शंखनाद INDIA /   देहरादून                                                                                                                                                                                                            कोरोना से बचाव के लिए चल रहे टीकाकरण अभियान के तहत सोमवार से वरिष्ठ नागरिकों व बीमार लोगों को टीका लगना शुरू हो गया है अच्छी खबर यह है कि पहले ही दिन लोग स्वतः टीकाकरण के लिये आगे आ रहे है। लेकिन व्यवस्थाएं जवाब दे गईं ।   राजधानी देहरादून में लोगों को टीका लगने के दूसरे दिन ही अस्पतालों में व्यवस्थाएं जवाब दे गईं। दून, गांधी, रायपुर, प्रेमनगर समेत अन्य अस्पतालों में पोर्टल दगा दे गया और घंटों तक काम ही नहीं किया। दून अस्पतल में तीन-चार घंटे तक इंतजार के बाद भी जब बुजुर्गों को टीका नहीं लगा तो उनका धैर्य जवाब दे गया और उन्होंने हंगामा किया। वहीं सही जानकारी नहीं मिलने पर कई बुजुर्गों ने एमएस डा. केसी पंत एवं डिप्टी एमसए डा. एनएस खत्री के सामने नाराजगी जताई। कई बार अफसरों एवं गार्डों से नोकझांेक एवं घेराव की नौबत आई। दोपहर 12 बजे के बाद से पोर्टल पर ठीक तरीके से काम शुरू हो सका।

सुबह आठ बजे अस्पताल आ गये थे। कहा कि लाइन में घंटों लगे रहे, फिर यहां बैठाकर रखा है, लेकिन 11 बजे तक केाई कुछ बताने को तैयार नहीं है। पोर्टल नहीं चल रहा है, तो मैन्यूअली काम करके उन्हें टीका लगा दिया जाए, क्योकि उन्होंने पहले से ही पंजीकरण करा रखा है। वहीं बुजुर्गों के लिए कोई अलग व्यवस्था न होने पर उन्होंने कड़ी नाराजगी जताई। एमएस डा. पंत ने सभी को समझाया कि पोर्टल पर बहुत ज्यादा लोड होने की वजह से दिक्कत आई । बुजुर्गाें ने आरोप लगाया कि अस्पताल में बीआईपी को तरजीह दे रहे हैं।   जिसकी वजह से उन्हें देरी हो रही हैं।   बुजुर्गो एवं बीमार लोगों को कोरोना का टीका बुधवार को नहीं लगेगा। बुधवार को उन लोगों को टीका लगाया जाएगा, जिनको दूसरी डोज दी जानी है।

Share and Enjoy !

Shares
  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    × हमारे साथ Whatsapp पर जुड़ें