शंखनादINDIA/ दीपक शाह/कर्णप्रयाग-:पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत मंगलवार को अपने निर्धारित कार्यक्रम के तहत गौचर पहुँचे। गौचर पहुँचने पर कार्यकर्ताओं ने उनका जोरदार स्वागत किया। कार्यक्रम के तहत रुद्रप्रयाग जनपद की सीमा पर स्थित ककोड़ाखाल में कुली बेगार प्रथा की 100 वी वर्षगांठ के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में शिरकत की।

जिसके बाद कर्णप्रयाग पहुँचने पर पूर्व मुख्यमंत्री ने अपने स्वाभिवक अन्दाज़ में एक जलेबी की दुकान मे जाकर अपने हाथों से जलेबी बनाकर कार्यक्रताओ को खिलाई। मीडिया के सेनापति घोषित किए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से भाजपा की ओर आए मुख्यमंत्री का चेहरा सामने है तो कांग्रेस का भी मुख्यमंत्री का चेहरा होना चाहिए।

ताकि चुनाव मे कांग्रेस का वोटर असमंजस में ना रहे। क्योंकि भाजपा चुनाव को मोदी की लड़ाई में बदल देती है। जिसके लिए कांग्रेस से मुख्यमंत्री का चेहरा घोषित होना आवश्यक है। ताकि चुनाव मोदी और काँग्रेस की ना हो बल्कि भाजपा के मुख्यमंत्री और कांग्रेस के मुख्यमंत्री के बीच हो। वही भाजपा के विकास के सवाल पर पूर्व मुख्यमंत्री ने मजाक अन्दाज में कहा (कुमाऊनी कहावत) नींबू खाई खटवाई ( उम्मदी बहुत थी लेकिन कुछ नही हुआ)।

Share and Enjoy !

Shares
  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    × हमारे साथ Whatsapp पर जुड़ें