शंखनाद INDIA /                                                                                                                                                  प्रधानंमत्री नरेंद्र मोदी ने तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था की जरूरतों को पूरा करने के लिए व्यवसायों को ऋण बढ़ाने पर जोर दिया। प्रधानंमत्री ने कहा है कि भले ही सरकार निजी क्षेत्र को बढा़वा देने के लिए प्रयास कर रही है, लेकिन सार्वजनिक क्षेत्र को अभी भी गरीबों का समर्थन करने के लिए बैंकिंग और बीमा में उपस्थित रहने की आवश्यकता है सरकार बैंकिग सेक्टर को सशक्त बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। इसी से वित्तीय प्रणाली को मजबूत किया जा सकेगा। प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि बैकिंग क्षेत्र में सुधार जारी रहेंगे। बैंकिग और बीमा में पब्लिक सेक्टर की भी एक प्रभावी भागीदारी अभी देश की जरूरत है।गरीबों और वंचितों को संरक्षण देने के लिए यह बहुत जरूरी है

            प्रधानमंत्री ने नए सेक्टर और नए उद्यमियों के लिए कर्ज के प्रवाह को बढ़ाने की बात भी कही । उन्होने बैकों से कहा है कि वे बदलते बाजार की जरूरतों को देखते हुए स्टार्ट-अप व फाइनेंशियल टेक्नोलाॅजी यानी फिटनेस कंपनियों के लिए नवीन उत्पाद पेश करें। बजट में वित्तीय क्षेत्र की घोषणाओं पर अमल को लेकर  आयोजित वेबिनार को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि देश के वित्तीय क्षेत्र को लेकर सरकार की सोच बिल्कुल साफ है। जमाकर्ता और निवेशकों को विश्वास के साथ पारदर्शिता का अनुभव कराना सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है।
पीएम के अुनसार अर्थव्यवस्था मे तेजी के साथ कर्ज का प्रवाह भी जरूरी हो गया है। उन्होंने वित्तीय सेक्टर से नए उद्यमियों व नए सेक्टर तक कर्ज प्रवाह बढ़ाने पर जोर देने को कहा। उन्होंने निजी क्षेत्रों से ग्रामीण क्षेत्र के ढ़ाचागत विकास में निवेश की संभावनाएं तलाशने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि वित्तीय समावेश के बाद देश वित्तीय सशक्तीकरण की तरफ बढ़ रहा है।

Share and Enjoy !

Shares
  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    × हमारे साथ Whatsapp पर जुड़ें