शंखनाद INDIA/ अवतार सिंह पंवार/चमोली

जोशीमठ में एनटीपीसी के कार्यालय में एनटीपीसी के वरिष्ठ अधिकारियों एवं स्थानीय लोगों के बीच हुई बैठक में लोगों ने जम कर कंपनी के खिलाफ आक्रोष व्यक्त किया। प्रभावित लोगों ने कहा कि कंपनी ने उनके जीवन के सारे अरमानों को तो खत्म कर दिया लेकिन अब वे अपने खोय हुए लोगों के चेहरे कब देख पायेंगे इस पर भी संसय खडा हो गया है। कहा कि 12 दिन से वे लोग अपनों को जो मलवे में एवं टनल के अंदर हैं के चेहरे देखना चाहते हैं लेकिन एनटीपीसी की लेटलतीफी एवं सुस्त चाल के कारण कभी लापता लोगों के शव मिल भी पायेंगे या नही कहा नही जा सकता।

लोगों ने पूर्व मंत्री राजेन्द्र सिंह भंडारी की अध्यक्षता में एनटीपीसी के वरिष्ठ अधिकारियों से मांग की कि जल्द से जल्द अत्याधुनिक मशीनें लगाकर टनल को साफ किया जाय साथ ही बराज के आसपास जहां जहां मलवा भरा हुआ है उसे भी हटाया जाय ताकि इसमें दबे लोगों के शव मिल सकें। पूर्व मंत्री राजेन्द्र भंडारी ने कहा कि यह जो दुर्घटना घटी है यह कंपनी की नाकामी है लोग बच नही सके इसके लिए मात्र कंपनी जिम्मेदार है कहा कि आज तक कंपनी का बचाव कार्य शून्य से आगे नही बढ सका है ।

लोगों ने मांग की कि एनटीपीसी में कार्य करते समय जितने भी लोग लापता हुए हैं उनके परिवार से एक एक व्यक्ति को कंपनी उनकी योग्यातानुसार स्थाई नौकरी दे जिसपर कंपनी के कार्यकारी निदेशक एमएस भट्टामिश्रा ने कहा कि ऐसे लोगों की सूची कंपनी को उपलब्ध कराई जाय जिसपर कंपनी नियमानुसार विचार करेगी। गंगापार के लोगों ने कहा कि आपदा के कारण उनके गांव तक के लिए बना एकमात्र झूला पुल बह गया है इस लिए कंपनी जल्द इस पुल को बनाये। एनटीपीसी के जीजीएम राजेन्द्र प्रसाद अहिरवार ने कहा कि कंपनी ग्रामीणों की हर संभव मदद करेगी।

महिला मंगल दल अध्यक्ष व्याग लक्ष्मी देवी व तपोवन सुमित्रा देवी ने कहा कि आज टनल को साफ करने व अन्य जगह फैले मलवे को हटाने के लिए कंपनी के पास आधुनिक मशीनें नही हैं लेकिन जब उनकी जमीनें कंपनी ने औने पौने दामों में ली तो कुछ ही दिनों में मशीनों से वे जमीनें खुर्द बुर्द कर दी गई थी तब आधुनिक मशीनें कंपनी के पास कैसे मौजूद थी। ढाक के प्रधान भरत बिष्ट ने कहा कि उनका भाई हरीश सिंह बिष्ट भी टनल के अंदर लापता लोगों में शामिल है ,

कुण्डी खोला के अनोद कैरणी ने कहा कि उनके दो भंाजे करछों निवासी ओमप्रकाश एवं सुभांई निवासी शिव सिंह भी इसी टनल के अंदर फंसा हुआ है।, लेकिन टनल कितने महीनों में साफ होगी कंपनी नही बता रही है।रिंगी के प्रधान विनोद नेगी ने कहा कि उनका चचेरा भाई मनोज तपोवन से लापता है उसके पिता पिछले 5 वर्षों से लकवा के मरीज हैं हिल नही सकते हैं ऐसे में उनका गुजर बसर कैसे होगा। लोगों ने कहा कि चाहे कंपनी को जो करना करे लेकिन हमारे परिजनों के शव कंपनी हमें जल्द मुहैया कराये जो कंपनी का नैतिक दायित्व भी है ।

Share and Enjoy !

Shares
  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    × हमारे साथ Whatsapp पर जुड़ें