शंखनाद INDIA/                                                                                                                                                                                          नए कृषि कानूनों के विरोध में किसानों ने गुरूवार को चार घंटे ’रेल रोको’ आंदोलन किया। पश्चिमी यूपी, पंजाब, हरियाणा, बिहार समेत कई राज्यों में संगठनों ने घंटों टैªक जाम रखा, जिससे यात्रियों को परेशानी भी झेलनी पड़ी। कई जगहो पर रेल पटरियों के किनारे किसान संगठनों ने प्रदर्शन किए। कई टैªनें विलंब से रवाना हुई, लेकिन किसी टैªन को निरस्त नहीं किया गया और न ही उनका रूट बदला गया। वे पटरियों पर दौड़ती रहीं। टैªनों को ऐसे स्थानों पर रोका गया, जिससे यात्रियों को ज्यादा पेरशानी का सामना न करना पडे़। रेल प्रशासन ने व्यापक तैयारी की थी।                                                                                                                                                       हरियाणा में रेलवे की रणनीति ने यात्रियों को बड़ी परेशानी से बचा लिया। राज्य से 60 टैªनों को गुजरना था। 44 जगहों पर आंदोलनकारी पटरियों पर डटे, लेकिन इंजन पर खड़े होकर फोटोशूट नहीं हो पाया। योजनाबद्ध तरीके से ट्रेनों को पहले ही बड़े स्टेशनों पर रोक लिया गया। शाम 4 बजे के बाद जैसे-जैसे क्लीयरेंस मिलती गई, ट्रैनों का संचालन शुरू कर दिया गया। दिल्ली व आसपास के कई स्थानों पर दोपहर 12 बजे से शाम 4 बजे तक प्रदर्शन ट्रैक पर बैठे रहे।

प्रदर्शन का अंदाज: मोदीनगर और दनकौर स्टेशन में पुलिसवालों पर फूल बरसाए, मिठाई बांटी। रेलकर्मियों और यात्रियों को चाय-नाश्ता भी कराया । इस दौरान किसानों ने उन्हें बताया कि आखिर क्यों उन्हें रेल रोकनी पड़ रही है।

फोटो साभार गूगल

Share and Enjoy !

Shares
  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    × हमारे साथ Whatsapp पर जुड़ें