शंखनाद INDIA/चंद्र शेखर सनवाल/अल्मोड़ -: भिकियासैंण ककलासों पट्टी के बीस गांवों को जोड़ने वाला भतरोंजखान,निगराली,भिकियासैंणमोटर मार्ग का निर्माण 7 वर्षों में भी पूरा नहीं हो सका है।जिस वजह से चार हजार आबादी को इस नौरड़ घाटी सड़क का लाभ नहीं मिल सका है।

लंबे समय से नौरड़ घाटी व उसके समीपवर्ती बीस गांवों को सड़क सुविधा से जोड़ने के लिये लोगों की मांग उठी अनेकों बार जन आन्दोलन भी हुये।परिणाम स्वरूप भतरोंजखान,निगराली,सौरे,नौरड़ भिकियासैंण लगभग 30 किमी सड़क की मंजूरी सरकार से मिली।

लोक निर्माण विभाग ने 6 वर्ष पूर्व भतरोंजखान से टूनाकोट तक 18 किमी सड़क का निर्माण कार्य पूरा कर लिया।लेकिन दूसरे चरण टूनाकोट से धूरा भिकियासैंण तक 12 किमी मार्ग का निर्माण आज तक शुरू नहीं हो सका है।जिस वजह से कुमार्ती ,सौरे,दाड़मीतया,कुनझीणा,नाहोरी,धूरा आदि तक सड़क की राह देख रहे हैं।

सड़क का पूरा निर्माण होने के बाद ग्रामीणों को ब्लाक व तहसील मुख्यालय आने में जहां दूरी कम होगी वहीं अनेकों गावों को मुख्य सड़क तक पहुचने के लिये चार पांच किमी की दूरी भी तय नहीं करनी पड़ेगी।

Share and Enjoy !

Shares
  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    × हमारे साथ Whatsapp पर जुड़ें