शंखनाद INDIA/ देहरादून

1 अप्रैल से उत्तराखंड में महाकुंभ की शुरूवात होने जा रही है| कुंभ में शामिल होने के लिए देश-विदेश से श्रद्दालुओं की कतार हरिद्वार पहुंच रही हैं| कुंभ को लेकर जिस तरह से भीड़ हो रही है उससे सरकार चिंतित नजर आ रही है| सीएम की कुर्सी संभालने के बाद सीएम तीरथ सिंह रावत ने कुंभ को लेकर पूर्व में सीएम रहे त्रिवेंद्र सरकार के फैसले को बदला था| उन्होंने कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए कोरोना की निगेटिव रिर्पोट लाने वाले फैसले को हटा दिया था जिससे कहीं ना कहीं कुंभ में शामिल होने वाले श्रद्धालुओं को राहत जरूर मिली थी| हालांकि सरकार ने लोगों से कोविड के सभी नियमों का पालन करने  की अपील जरूर की थी| लेकिन आज एक बार फिर कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओँ के लिए नई गाइडलाइन जारी की गई है जिसमें अब कुंभ में शामिल होने वाले यात्रियों को 72 घंटे पहले की कोरोना निगेटिव रिपोर्ट लानी होगी| मुख्य सचिव ओम प्रकाश ने इस बात की जानकारी दी है| हालांकि उन्होंने इस फैसले को लेकर अभी आधिकारिक आदेश जारी नहीं किया है|  कुंभ में देश विदेश से लाखों श्रद्धालु पहुंचते हैं ऐसे में सरकार को भीड़ एकत्रित होने से कोरोना संक्रमण का डर है| और इसी वजह से सरकार कुंभ को लेकर नियम सख्त कर रही है जिससे लोगों को कोरोना से बचाया जा सके|

दरअसल जिस तरह से देश में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे है उससे सभी राज्यों की सरकारें चिंतित है| राज्य सरकारों द्वारा हर तरह से यही कोशिश की जा रही है कि किसी तरह से लोगों की भीड़ जमा ना होने दी जाए जिससे कोरोना संक्रमण को फैलने से रोका जा सके| और इसी के चलते राज्य सरकारें  लगातार पाबंदिया लगा रही है| देश के कई राज्यों में तो लॉकडाउन भी लगा दिया गया है जिससे कोरोना संक्रमण फैल ना पाए|

उत्तराखंड सरकार ने भी कोरोना महामारी के डर से 12 साल में आने वाले महाकुंभ को लेकर कई गाइडलाइन्स जारी की है| सरकार हर तरह से यही कोशिश में जुटी है कि किसी तरह इस महामारी को फैलने से  रोका जा सके| हालांकि इससे पहेल सीएम तीरथ सिंह रावत ने यह जरूर कहा था कि कुंभ में शामिल होने वाले  श्रद्धालुओं के लिए अब कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट लाना जरूरी नहीं होगा| सीएम का मानना था कि कुंभ 12 साल में एक बार आता है ऐसे में कई सालों से श्रद्धालु इस महापर्व का इंतजार करते हैं| देश विदेश से लाखों श्रद्धालु इस महाकुंभ में शामिल होने के लिए पहुंचते हैं तो ऐसे में उन्हें किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो इसके लिए तीरथ  सरकार ने सभी गाइडलाइन्स को हटा दिया था| लेकिन कोरोना के लगातार बढ़ रहे मामलों को देखते हुए एक बार फिर सरकार ने अपना फैसला बदलने की सोची है| सरकार ने कुंभ में शामिल होने वाल श्रद्धालुओं के लिए अब कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट लाना जरूरी कर दिया है| अब अगर कोई भी श्रद्दालु कुंभ में शामिल होगा तो उसे पहले अपनी 72 घंटे पहले की निगेटिव रिपोर्ट  दिखानी होगी तभी वो कुंभ में शामिल  हो पाएगा| इसके अलावा सरकार ने सभी श्रद्धालुओँ से कोविड-19 के नियमों का सख्ती से पालन करने की अपील की है|  सरकार महाकुंभ को लेकर सभी तैयारियां करने में जुटी है| सरकार ने अधिकारियों को भी यह दिशा-निर्देश जारी किये हैं जिसमें कहा गया है कि कुंभ में कोरोना को लेकर सख्ती बरतनी है और सभी श्रद्धालुओँ से कोरोना के नियमों का पालन कराना सुनिश्चित करना है|

Share and Enjoy !

Shares
  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    × हमारे साथ Whatsapp पर जुड़ें