शंखनाद INDIA/पंकज डसीला/बागेश्वर-: समाजसेवा और जनसेवा किसी भी रूप में की जा सकती है। इसकी मिसाल पेश की है हल्द्वानी की प्रतिभा बिष्ट ने। उन्होंने हल्द्वानी ऑनलाइन 2011 फेसबुक ग्रुप अब तक हजारों रक्तपीड़ितों को खून उपलब्ध कराकर उनकी जान बचाने में मदद की है। जिले के कई मरीजों की भी ग्रुप मदद कर चुका है। कोरोना काल में ही ग्रुप ने 1200 लोगों को रक्त और प्लाज्मा दान करवा चुके हैं। इसी ग्रुप के सक्रिय सदस्यों को जिला रेडक्रॉस सोसायटी हल्द्वानी जाकर सम्मानित किया।

साल 2011 में हल्द्वानी निवासी गृहणी प्रतिभा बिष्ट ने रक्तपीड़ितों की मदद के लिए एक फेसबुक ग्रुप की स्थापना की। किसी भी मरीज में खून की कमी की शिकायत मिलते ही वह फेसबुक पर उसे अपडेट कर देती। धीरे-धीरे उसकी पहल से रंग लाने लगी। उनकी पोस्ट का संज्ञान लेकर लोग रक्तदान को आगे आने लगे। उनके ग्रुप से जुड़ने वालों की संख्या में भी बढ़ोतरी होने लगी। ग्रुप के सदस्य हल्द्वानी के अस्पतालों में खून की कमी से जूझ रहे मरीजों की जानकारी मिलते ही सक्रिय हो जाते। किसी भी अस्पताल में खून की कमी होने पर लोग ग्रुप से संपर्क करने लगे। हल्द्वानी के मरीजों के अलावा बाहर के लोगों को भी ग्रुप के सदस्य खून उपलब्ध कराते थे।

बागेश्वर जिले के भी सैकड़ों मरीजों को हल्द्वानी में जरूरत पड़ने पर ग्रुप के सदस्यों ने खून उपलब्ध कराकर उनकी जान बचाने में मदद की है। कोरोना काल में भी जिले के मरीजों को प्लाज्मा और रक्तदान कराने में ग्रुप के सदस्यों ने अहम योगदान दिया। जिसे देखते हुए रेडक्रॉस सोसायटी के जिला सचिव आलोक पांडेय ने हल्द्वानी में हुए कार्यक्रम में ग्रुप लीडर प्रतिभा बिष्ट, सक्रिय सदस्य जितिन पांडेय और निया ठाकुर को सम्मानित किया। यहां रेडक्रॉस के चेयमैन अशोक लोहनी, सदस्य ममता पांडेय रहे।

Share and Enjoy !

Shares
  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    × हमारे साथ Whatsapp पर जुड़ें