शंखनाद INDIA/ विजय उप्रेती/पिथौरागढ़ः सीमांत क्षेत्र के मुनस्यारी तहसील क्षेत्रांतर्गत गोल्फा के ग्रामीणों का सब्र का बांध टूटने लगा है। दो वर्ष से अधिक समय बीतने के बाद भी सड़क निर्माण कार्य शुरू नहीं होने पर गुस्साए ग्रामीणों ने रविवार को गांव में ही धरना प्रदर्शन कर आक्रोश प्रकट किया। ग्रामीणों ने अविलंब सड़क कटिंग कार्य शुरू नहीं होने पर आगामी विधानसभा चुनाव बहिष्कार की धमकी दी है।

रविवार को गोल्फा के ग्रामीणों ने शासन-प्रशासन पर सीमांत क्षेत्र की अनदेखी करने का आरोप लगाते हुए रोड नहीं तो वोट नहीं नारे के साथ जमकर नारेबाजी की। ग्रामीणों ने कहा कि क्षेत्र की जनता विगत लंबे समय से सड़क सुविधा देने की मांग कर रही है। पूर्व में दानीबगड़ से गोल्फा के लिए सड़क निर्माण कार्य किया गया, मगर विगत दो वर्ष से निर्माण कार्य को बंद कर दिया गया है। सड़क के अभाव में क्षेत्र की जनता को आज भी मीलों पैदल चलना पड़ता है।

बीमार, गर्भवती महिलाओं को डोली के सहारे मुख्य सड़क तक पहुंचाया जाता है। स्कूली बच्चों को भी जंगलों के रास्ते से होकर स्कूल जाना पड़ता है। गोल्फा क्षेत्र राजमा उत्पादन के लिए जाना जाता है। सड़क नहीं होने के कारण ग्रामीणों के उत्पाद बाजार तक नहीं पहुंच पा रहे हैं। ग्रामीणों ने कहा सड़क निर्माण की मांग को लेकर कई बार विभागीय अधिकारियों से लेकर जनप्रतिनिधियों को अवगत कराया जा चुका है। बावजूद इसके समस्या जस की तस बनी हुई है। ग्रामीणों ने कहा कि यदि इसी तरह से क्षेत्र की जनता की अनदेखी होती रही तो क्षेत्रवासी आगामी 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव का बहिष्कार करने को बाध्य होगी।

Share and Enjoy !

Shares
  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    × हमारे साथ Whatsapp पर जुड़ें