शंखनाद INDIA/बागेश्वर- कपकोट के पूर्व विधायक ललित फर्स्वाण ने कहा कि प्रदेश सरकार शासन और प्रशासन चलाने में पूरी तरह असफल साबित हो रहा है। पिछले डेढ़ साल की अवधि में चार पुलिस अधीक्षक बदल दिए गए। यही कारण है कि देश के सबसे खराब मुख्यमंत्री में में उत्तराखंड के त्रिवेंद्र सिंह रावत सबसे पहले नंबर पर है।

शनिवार को मुख्यालय में पत्रकार वार्ता करते हुए पूर्व विधायक फर्स्वाण ने कहा कि भाजपा सरकार के पिछले चार साल के कार्यकाल निराशाजनक ही रहे है। मूलभूत समस्याएं कम होने के बजाय बढ़ गई है। अब तो लोग रोटी, कपड़ा, मकान तक को संघर्ष करने लगे है। बेरोजगारों की फौज और गांवों से लोगों का पलायन तेजी से बढ़ा है। यह हम नही कह रहे सरकार का पलायन आयोग की रिपोर्ट ही कह रहा है।

प्रवासी जो अपने गांवों को इस महामारी में लौटे थे वो भी यहां के हालात देख रोजी-रोटी के लिए फिर वापस चले गए है। यही कारण है कि आज प्रदेश अच्छे कार्यों के लिए नही बल्कि सबसे खराब मुख्यमंत्री के पायदान में नंबर एक पर है। पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष हरीश ऐठानी, पूर्व दर्जा राज्य मंत्री राजेंद्र टंगड़िया ने कहा आज अधिकारी बेलगाम हो गए है। उनके मंत्रियों की नही सुन रहे है।

पर्यटन मंत्री को खुद मुख्य सचिव को इसकी शिकायत करनी पड़ी। लगातार अफसरों को एक जगह से दूसरे जगहों पर भेजा जा रहा है। शासन-प्रशासन चलाने में भाजपा सरकार फेल हो गई है। यही कारण है कि आज जनहित में कोई कार्य नही हो रहे है। जनता इसका जवाब आने वाले चुनावों में जरुर देगी।

Share and Enjoy !

Shares
  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    × हमारे साथ Whatsapp पर जुड़ें