शंखनाद INDIA/ देहरादून

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री इन दिनों कोरोना संक्रमित होने के कारण आसोलेशन में हैं| आइसोलेशन में रहते हुए सीएम तीरथ सिंह रावत अपने सरकारी कामकाजों की निपटाने में लगे हैं| सीएम वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सभी बैठकों में शामिल हो रहे हैं साथ ही अधिकारियों को जरूरी दिशा निर्देश भी जारी कर रहे हैं| सीएम तीरथ सिंह रावत ने प्रदेश में वनों में आग लगने वाली घटनाओं को लेकर वन विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की| इस दौरान उन्होंने प्रमुख वन संरक्षक राजीव भरतरी को कुछ जरूरी दिशा- निर्देश जारी किए| सीएम ने वनाग्नि की घटनाओं पर रोकथाम के लिए युद्धस्तर पर तैयारी करने को कहा| सीएम ने कहा कि वनों में आग को रोकने के लिए पुख्ता व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं जिससे जंगलों में बढ़ रही आग पर काबू पाया जा सके|

सीएम ने वन विभाग के अधिकारियों को कहा कि वनों में बढ़ रही आग को लेकर जन जागरूकता पर भी विशेष ध्यान दिया जाए साथ ही लोगों को वनों की महत्वता के बारे में जानकारी दी जाए जिससे लोग जंगलों में आग न लगाएं|  सीएम ने कहा का अपने मिशन को पूरा करने के लिए स्थानीय लोगों का भी सहारा लिया जाए जिससे अन्य लोगों को जागरूक करने में आसानी हो सके| इसके अलावा सीएम ने कहा कि जिन दूर और दुर्गम क्षेत्रों में पहुंच पाना मुश्किल है वहां वनाग्नि शमन के लिए हेलीकॉप्टर की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए| साथ ही वनाग्नि प्रबंधन की नियमित रूप से समीक्षा की जाए| सीएम ने निर्देश जारी किए कि वनाग्नि शमन के दौरान मृतक कार्मिकों और स्थानीय नागरिकों के परिवारों  को अनुग्रह राशि अविलंब उपलब्ध कराई जाएं|

उत्तराखंड मेंं इन दिनों वनों में लग रही आग का मामला बढ़ता जा रहा है| प्रदेश के जंगलों में आए दिन आग लग रही है  जिससे वन नष्ट हो रहे है|ऐसे में वनों का नष्ट होना वाकई नुकसानदायक है| कई जगहों पर तो लोगों द्वारा ही वनों में आग लगाई जा रही है| और यही एक वजह है कि जिससे  जानवरों को इंसानी बस्तियों का रूख करना पड़ रहा है जिससे लोगों के लिए ही खतरा बन रहा है| ऐसे में सरकार की तरफ से इस ओर सजग होना वाकई सराहनीय कदम माना जा रहा है| और सरकार के इस कदम से वनों में लग रही आग पर भी काबू पाया जाएगा|

Share and Enjoy !

Shares
  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    × हमारे साथ Whatsapp पर जुड़ें