शंखनाद INDIA/रिखणीखाल पौड़ी /देवेश:

प्रखंड रिखणीखाल के अंतर्गत् ग्राम कोटड़ी वल्ली स्थित ज्ञानददीप पुस्तकालय एवं वाचनालय का स्थापना समारोह धूमधाम से मनाया गया।सर्वप्रथम कार्यक्रम की शुरूआत समारंभ फाउंडेशन के अध्यक्ष मयंक खंतवाल व ज्ञान दीप वाचनालय के संरक्षक देवेश आदमी श्री कीरत सिंह रावत माल गुजार ग्राम कोटड़ी सामाजिक कार्यकर्ता श्री अजय पाल सिंह रावत कोटडी द्वारा दीप प्रज्वलित् कर किया गया।
इस कड़ी में 8km की मैराथन दौड़ कोटड़ी से गाड़ियूं तक की गयी जिसमें अड़तालीस प्रतिभागियों में एकमात्र लड़की डबराड़ से पहुंची कु पूजा ने प्रतिभाग किया।मैराथन में विजयपाल ग्राम अंदर गाँव प्रथम,अभिषेक गुसाईं ग्राम रजबौ द्वितीय व अभिषेक गुसाई ग्राम अंदर गाँव तृतीय रहे। रा0 प्रा0 वि0 कोटड़ी में आयोजित् निबंध एवं चित्रकला में चौतीस बच्चों ने प्रतिभाग किया, जिसमें निबंध में प्रथम नीलम रावत ग्राम कोटडी द्वितीय बलराम ग्राम कोटडी व तृतीय हेमंत चौहान रहे वहीं चित्रकला में आकांक्षा रावत कोटड़ी प्रथम,विभा चौहान देवू खाल द्वितीय व दिया मैंदोला रिखणीखाल तृतीय रहे। डिप्स प्रतियोगिता में रोशन लाल कोटड़ी प्रथम ‌व शिव सिंह उपगाँव द्वितीय रहे। गौरतलब है कि समारंभ फाउंडेशन के सहयोग से संचालित् ज्ञानदीप पुस्तकालय जरूरतमंदों को शिक्षा में मदद के अलावा विवाह ,चिकित्सा व समाज और साहित्य में अग्रणी भूमिका निभा रहा है।इसके संचालक श्री देवेश आदमी द्वारा वर्षभर की उपलब्धियों की आख्या प्रेषित की गयी ।जबकि संस्थाध्यक्ष श्री मयंक खंतवाल द्वारा बालिका शिक्षा और संस्था से दी जाने वाली विविध सहायताओं पर दृष्टिपात् किया गया तथा विविध प्रतियोगिताओं के प्रतिभागियों को मेडल व स्मृति चिन्ह देकर पुरस्कृत किया गया। इस अवसर पर शिक्षा की गुणवत्ता में अहम योगदानकर्ताओं को रिखणीखाल के अनेकों शिक्षकों को स्मृति चिन्ह व आकर्षक उपहार देकर सम्मानित किया गया।इस अवसर पर कीरत सिंह रावत,बिष्णुपाल सिंह नेगी,मनोज गुसाईं,योगेश आर्य, कुलदीप खंतवाल,विपिन चौहान, सुभाष मैंदोला,अजय पोखरियाल प्रकाश खत्री, प्रकाश रावत, बीरेन्द्र सिंह नेगी,दौलत सिंह ,दिलवर शाह समेत कई गणमान्य लोगों ने विचार व्यक्त किये। कार्यक्रम् का संचालन डॉ अम्बिका प्रसाद ध्यानी जी द्वारा किया गया। कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य क्षेत्र में युवाओं का मानसिक व शारीरिक स्तर को परखना था। सामाजिक कार्यक्रमों में अग्रणीय भूमिका निभाने वाली रंजना रावत विशेष निमंत्रण पर कार्यक्रम का हिस्सा बनीं उन्होंने कहा कि पहली बार मेरे द्वारा पहाड़ों में किसी भी क्षेत्र के युवाओं का मैराथन व चित्रकला – निबन्ध प्रतियोगिता हेतु ऐसा उत्साह देखा है। यदि इस तरह के कार्यक्रम समय समय पर होते रहेंगे तो बच्चों में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता रहेगा और साथ ही खेल ही बच्चों के सर्वांगीण विकास का साधन है।

Share and Enjoy !

Shares
  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    × हमारे साथ Whatsapp पर जुड़ें