शंखनाद INDIA/ हरिद्वार

हरिद्वार में कल से महाकुंभ की शुरूवात होने जा रही है| कुंभ को लेकर प्रशासन की तरफ से लगभग सभी तैयारियों को पूरा किया जा चुका है| सरकार ने श्रद्धालुओँ की सुविधा के लिए हर व्यवस्थाओं के पुख्ता इंतजाम किया है| सरकार की कोशिश है कि कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं को किसी तरह की परेशानी की सामना ना करने पड़े| सरकार ने सभी जिम्मेदार अधिकारियों को कुंभ को लेकर जरूरी दिशा-निर्देश जारी कर दिए है| इसके अलावा कुंभ में पुलिसबल का भी खास ख्याल रखा गया है| कुंभ में देश विदेश से लाखों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचते हैं ऐसे में सरकार ने सभी के लिए हर एक सुविधा का खास ख्याल रखा है| वैस तो कुंभ का आयोजन 3 महीने तक किया जाता है लेकिन इस बार कोरोना महामारी के चलते इसकी अवधि को कम किया गया है जिससे कोरोना का खतरा ना बढ़े| इस बार कुंभ का आयोजन सिर्फ 1 महीने तक होगा ऐसे में बड़ी कम समय में ज्यादा भीड़ एकत्रित होने के आसार हैं|

कुंभ में धर्मनगरी हरिद्वार को सलीके से सजाया–संवारा गया है। पूरे नगर को निर्माण और रंगों के जरिए आस्था और अध्यात्म का टच दिया गया है। जिससे दूसरे राज्यों से वाले लोगों को यहां की संस्कृति की झलक मिल सके| आस्था और अध्यात्म की थीम पर गंगा नदी के किनारे एक पैदल मार्ग विकसित किया गया है, जिसे ‘आस्था पथ’ नाम दिया गया है। पंतद्वीप पार्किंग से लेकर चंडीघाट पुल तक बनाए गए इस पथ की लंबाई तकरीबन एक किलोमीटर है। आने वाले समय में कुंभनगरी के लिए यह एक धरोहर साबित होगा। इससे न केवल यहां आने वाले श्रद्धालुओं को मां गंगा के साथ सुरक्षित सेल्फी लेने का मौका मिलेगा बल्कि वे शांत वातावरण में मॉर्निंग वॉक और योग–ध्यान भी कर सकते हैं। इसके अलावा भी कुंभ मेले में प्रशासन द्वारा कई जगहों को सजाया गया है जिससे यहां आने वाले हर एक श्रद्धालु अच्छे से कुंभ मेले के आयोजन का लुत्फ उठा सके|

हालांकि कोरोना को देखते हुए सरकार ने कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओँ के लिए कई गाइडलाइन्स  जारी की है| सरकार  ने दूसरे राज्यों से आने वाले श्रद्धालुओँ के लिए कोरोना की 72 घंटे पहले की कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट लाने को कहा है, कोरोना की निगेटिन रिपोर्ट के बिना किसी भी श्रद्धालु को मेले में प्रवेश नहीं दिया जाएगा| इसके अलावा स्थानीय लोगों के लिए भी सरकार ने मेले में आने के लिए कुछ गाइडलाइन्स जारी की है जिसके अनुसार ही उन्हें मेले में प्रवेश दिया जाएगा| सरकार द्वार जारी गाइडलाइन्स के मुताबिक अगर किसी भी स्थानीय में कोरोना के लक्षण पाए जाते हैं तो पहले उसे 14 दिन के लिए क्वारंटिन किया जाएगा| सरकार ने कुंभ में आने वाले हर श्रद्धालु से कोरोना के नियमों का सख्ती से पालन करने की अपील की है जिससे कोरोना संक्रमण को फैलने से रोका जा सके|

Share and Enjoy !

Shares
  • Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    × हमारे साथ Whatsapp पर जुड़ें